मुहावरे - SSC EXAM LIVE

रविवार, 12 अगस्त 2018

मुहावरे

प्रश्न 1   किस वाक्य में लोकोक्ति का सार्थक प्रयोग नहीं हुआ है -
 (अ) आप चलकर शहर में रहिए और वहां अध्यापन कार्य कीजिए। यहां तो आपकी विद्या की कोई कद्र नहीं क्योंकि जंगल में मोर नाचा किसने देखा।
 (ब) जब तुम गांव से शहर में पढ़ने आए थे तब तो बड़े सरल थे परन्तु अन्य शैतान विद्यार्थियों के साथ रहकर तुम भी वैसे ही हो गये। सच है - चंदन की चुटकी भली, गाड़ी भरा न काठ।
 (स) मोहन प्रातःकाल मजदूरों को बुलाने गया और उनसे पूछा तुम लोग दरवाजा खुला रखकर अभी तक सो रहे थे। धनकू ने उत्तर दिया - क्या करें ? गाय न बाछी नींद आवे आछी।
 (द) फसल पककर तैयार है, मुझे बैल की बहुत जरूरत थी, इसीलिए इसे रू 2000 में खरीदा है, क्योंकि आंखों पर पलकों का बोझ नहीं होता।
 उत्तर  

प्रश्न 2   राम पैसे तो अच्छे दे रहा है पर देगा तीन महीने बाद जबकि श्याम कम पैसों में खरीदेगा पर हिसाब तुरन्त करेगा; मैं तो श्याम को ही बेचूंगा। मेरी तो नीति है कि .......।
 (अ) नौ दिन चले अढ़ाई कोस।
 (ब) नौ मन तेल खाये फिर तिलेर का तिलेर।
 (स) नन्हें होकर रहिए जैसे नन्हीं दूब।
 (द) नौ नगद न तेरह उधार।
 उत्तर  

प्रश्न 3   किस विकल्प में लोकोक्ति का वाक्य में सार्थक प्रयोग किया गया है -
 (अ) घर का जोगी तो जोगड़ा ही होता है, आन गांव का सिद्ध होता है।
 (ब) जहं जहं चरन पड़ै सन्तन के तहं तहं बंटाधार होता ही है।
 (स) मैं उनका नमक खाता हूं, तब उनकी-सी न कहंू तो करूं क्या ? मनुष्य को चाहिए कि जहां का पीवे पानी, वहीं की बोले बानी।
 (द) जाति-पांति पूछै नहिं कोई हरि को भजे सो हरि का होई होता ही है।
 उत्तर  

प्रश्न 4   संसार में कोई सुन्दर है तो कोई कुरूप, कोई स्वस्थ है तो कोई रूग्ण, कोई करोड़पति है तो कोई अकिंचन, इसीलिए कहा गया है कि .......... ।
रिक्त स्थन हेतु उपयुक्त लोकोक्ति है

 (अ) ईश्वर की माया, कहीं धूप कहीं छाया
 (ब) इब्तिदा-ए-इश्क है, रोता है क्या, आगे-आगे देखिए, होता है क्या
 (स) इहां न लागहि राउरि माया
 (द) ईतर के घर तीतर, बाहर-बांधू कि भीतर
 उत्तर  



जरूर देखे : Best Education Telegram Groups/Chanel Links 2019 


प्रश्न 5   स्वामी रामतीर्थ को बचपन से ही सत्संग का बड़ा शौक था। राम और कृष्ण की कथाएं सुनकर उनकी आंखें सजल हो जाती थीं, रोम-रोम में प्रेम का संचार हो जाता थ। सच है ..... ।
रिक्त स्थान हेतु उपयुक्त लोकोक्ति है

 (अ) हलक से निकली खलक में पड़ी
 (ब) होनहार बिरवान के होत चीकने पात
 (स) होनहार मिटती नहीं होवे बिस्से बीस
 (द) हजारों टांकी सहकर ही महादेव होते हैं
 उत्तर  

प्रश्न 6   ‘अपने वचन के अनुसार मेरे रूपए लौटा दो, नहीं तो मुझे ........ आता है।’ रिक्त स्थान में उपयुक्त मुहावरा होगा -
 (अ) दांत खट्टे करना
 (ब) टेढ़ी उंगली से घी निकालना
 (स) छाती पर मूंग दलना
 (द) तीन-पांच करना
 उत्तर  

प्रश्न 7   ‘कुसुम ने बच्चों के झगड़े को ....... भाइयों में मारपीट करवा दी।’ रिक्त स्थान में उपयुक्त मुहावरा होगा -
 (अ) बाल की खाल निकालकर
 (ब) डंका बजाकर
 (स) तिल का ताड बनाकर
 (द) हवा में उड़ाकर
 उत्तर  

प्रश्न 8   किस वाक्य में मुहावरे का सार्थक प्रयोग नहीं हुआ है।
 (अ) नौकरी छूट जाने के कारण वह मित्रों के आगे हाथ फैला रहा है।
 (ब) चौकीदार के शोर मचाते ही चोर नौ-दो ग्यारह हो गए।
 (स) घरवालों द्वारा देरी से आने का कारण पूछने पर वह बगलें झांकरने लगी।
 (द) भैंस के आगे बीन बजाने से वह बिदक जाती है।
 उत्तर  

प्रश्न 9   ‘ताजमहल का अनुपम सौंदर्य देखकर सभी पर्यटक ......... !’ रिक्त स्थान में उपयुक्त मुहावरा होगा -
 (अ) चैन की बंसी बजाते हैं
 (ब) दांतों तले उंगली दबाते हैं
 (स) छोटा मुंह बड़ी बात करने लगते हैं
 (द) अपने मुंह मियां मिट्ठू बनते हैं
 उत्तर  

प्रश्न 10   किस विकल्प में मुहावरे का सार्थक प्रयोग हुआ है -
 (अ) पंडितजी को उपदेश देकर तुम सूरज को दीपक दिखाने का प्रयास कर रहे हो।
 (ब) यज्ञ करते समय आग में घी डाला जाता है।
 (स) मिठाई देखते ही मुंह में पानी भर आता है।
 (द) कुछ अन्य जीव भी गिरगिट की तरह रंग बदलते हैं।
 उत्तर  


प्रश्न 11   ‘लाख प्रयत्न करो तब भी कुटिल व्यक्ति अपनी कुटिलता नहीं छोड़ता’ अर्थ के लिए उपयुक्त लोकोक्ति है -
 (अ) कै हंसा मोती चुगे कै भूखा मर जाय।
 (ब) कोई माल मस्त कोई हाल मस्त।
 (स) गधा धोने से बछड़ा नहीं हो जाता।
 (द) कुत्ते की दुम बारह बरस नली में रखो तो भी टेढ़ी की टेढ़ी।
 उत्तर  

प्रश्न 12   ‘बहुत ऊधम मचाना’ के लिए उपयुक्त मुहावरा है -
 (अ) सिर पर उठा लेना
 (ब) मारधाड़ करना
 (स) सिर पर भूत सवार होना
 (द) सिर मारना
 उत्तर  

प्रश्न 13   ‘सब्जबाग दिखाना’ मुहावरे का सही अर्थ है -
 (अ) अच्छी बातें कहकर बहकाना
 (ब) मीठी बातें करना
 (स) बहलाना
 (द) भ्रमित करना
 उत्तर  

प्रश्न 14   किस वाक्य में लोकोक्ति का सही प्रयोग नहीं हुआ है -
 (अ) उसे इन्टरनेट और ई-मेल समझाकर क्या करोगी; उसके लिए तो काला अक्षर भैंस बराबर है।
 (ब) पिता ने बेटे को समझाया कि अपने भ्रष्ट अधिकारी के विरूद्ध जब तक प्रमाण न हो उससे झगड़ा मोल न लेना; जल में रहकर मगर से बैर नहीं करते।
 (स) नीम के पेड़ के नीचे बैठकर इलाज करने वाले डाॅक्टर से बचना चाहिए; नीम हकीम खतरे जान होता है।
 (द) भ्रष्ट और स्वार्थी राजनेता राष्ट्रीय हितों को भूलकर अपनी-अपनी ढपली अपना-अपना राग अलापने में लगे हुए हैं।
 उत्तर  

प्रश्न 15   किस वाक्य में लोकोक्ति का सही प्रयोग नहीं हुआ है -
 (अ) सेठजी तो चमड़ी जाए पर दमड़ी न जाए पर विश्वास करते हैं ; उनसे दान की उम्मीद न रखो।
 (ब) बुजुर्गों ने ठीक ही कहा है कि विवाह ऐसी मिठाई है जो खाए तो पछताए, न खाए तो पछताए।
 (स) बहू ने भी कुछ कहा होगा, तभी तो सास ने झगड़ा किया ; एक हाथ से तो ताली नहीं बजती।
 (द) गेहूँ हमेशा साफ़ करके पिसवाना चाहिए; नहीं तो गेहूँ के साथ घुन भी पिस जाते हैं।
 उत्तर  

प्रश्न 16   किस वाक्य में मुहावरे का सही प्रयोग हुआ है -
 (अ) वह कई वर्षों से जगह-जगह की खाक छान रहा है; परंतु कहीं नौकरी नहीं मिली।
 (ब) कच्चे काम खाने से दाँत खट्टे हो जाते हैं।
 (स) बाढ़ के कारण चारों ओर पानी-पानी हो गया।
 (द) यज्ञ करते समय हवन-सामग्री के साथ-साथ आग में घी भी डालना पड़ता है।
 उत्तर  

प्रश्न 17   किस वाक्य में मुहावरे का सही प्रयोग नहीं हुआ है -
 (अ) चुनाव के दिनों में नेता एक - दुसरे पर कीचड़ उछालते रहते हैं।
 (ब) घाव पर नमक छिड़कने से बहुत जलन होती है।
 (स) पुलिस की गाड़ी देखते ही दंगाई दुम दबाकर भाग गए।
 (द) चौकीदार के शोर मचाते ही चोर नौ-दो ग्यारह हो गए।
 उत्तर  

प्रश्न 18   किस वाक्य में लोकोक्ति का सही प्रयोग नहीं हुआ है -
 (अ) उस जैसे मक्कारों पर समझाने का असर नहीं होता ; लातों के भूत बातों से नहीं मानते।
 (ब) चन्द्रमोहन मकान बनाकर क्या करेगा ; वह तो बहता पानी रमता जोगी है।
 (स) अनुभवी पशुपालक भी नहीं बता पाएगा कि ऊंट किस करवट बैठता है।
 (द) संदीप ने बीमार भाई को समझाया ‘सब काम छोड़कर पहले अपना इलाज कराओ ; जान है तो जहान है।’
 उत्तर  

प्रश्न 19   निम्नांकित में से किस विकल्प में मुहावरे का सही प्रयोग हुआ है -
 (अ) बेटे ने संदूक में पगड़ी रख ली।
 (ब) मां मेरे लिए पराठा बनाती है तब उसकी पांचों उंगलियां घी में भरी हुई होती हैं।
 (स) भूखा कुत्ता दरवाजे पर रखे जूते चाटने लगा।
 (द) धन के आगे ईमान का भी आसन डोल जाता है।
 उत्तर  

प्रश्न 20   कौनसे वाक्य में लोकोक्ति का सही प्रयोग नहीं हुआ है -
 (अ) बेईमान साझेदार से जितना मिल रहा है ले लो ; भागते भूत की लंगोटी ही भली।
 (ब) ढोंगी बाबाओं के तो मुंह में राम बगल में छूरी होती है।
 (स) हथेली पर सरसों थोड़े ही उगती है ; वह तो खेतों में उगाई जाती है।
 (द) गुमराह युवाओं को रोजगार मिल जाए तो देश में शांति हो जाए ; खाली दिमाग शैतान का घर होता है।
 उत्तर  


प्रश्न 21   इनमें से किस वाक्य में मुहावरे का सही प्रयोग हुआ है -
 (अ) उसने मेरा हाथ जोर से खींच दिया।
 (ब) शादी के कारण उसके हाथों में मेहंदी लगी हुई है।
 (स) वह जिस काम के पीछे हाथ धोकर पड़ जाता है उसे पूरा करके रहता है।
 (द) होम करते समय उसके हाथ जल गए।
 उत्तर  

प्रश्न 22   किस विकल्प में मुहावरे का भावार्थ गलत है -
 (अ) कन्नी काटना - पेंच लड़ाकर पतंग काटना
 (ब) कान खड़े होना - सतर्क हो जाना
 (स) पत्थर की लकीर - अमिट या पक्की बात
 (द) सिर धुनना - पश्चात्ताप करना
 उत्तर  

प्रश्न 23   ‘नौ दिन चले अढ़ाई कोस’ लोकोक्ति का भावार्थ है -
 (अ) काम करने की बहुत धीमी गति
 (ब) पैदल चलने की आदत होनी चाहिए चाहे बहुत धीर-धीरे ही चलें
 (स) व्यक्ति को नौ दिन तक प्रतिदिन अढ़ाई कोस पैदल चलना चाहिए
 (द) पैदल चलने में बहुत समय लगता है, इसलिए पैदल न चलें, समय की बचत करें
 उत्तर  

प्रश्न 24   ‘दाल मेें कुछ काला होना’ - मुहावरे का भावार्थ है -
 (अ) दाल जल जाना
 (ब) दाल में कुछ गिर जाना
 (स) दाल का छौंक जल जाना
 (द) आशंका या संदेह होना
 उत्तर  

प्रश्न 25   मुहावरे के भावार्थ की दृष्टि से कौनसा विकल्प सही नहीं है -
 (अ) बाल की खाल निकालना - बहुत परिश्रम करना
 (ब) कलेजा ठंडा होना - शांति या संतोष प्राप्त होना
 (स) कमर कसना - अच्छी तरह तैयार होना
 (द) फटेहाल होना - बहुत गरीब होना
 उत्तर  

प्रश्न 26   इनमें से किस लोकोक्ति का भावार्थ सुसंगत नहीं है -
 (अ) मन चंगा तो कठौती में गंगा - यदि मन शुद्ध है तो घर में ही तीर्थाटन का फल मिल सकता है
 (ब) आ बैल मुझे मार - जान-बूझकर विपत्ति में पड़ना
 (स) काला अक्षर भैंस बराबर - बिलकुल अनपढ़
 (द) आंख के अंधे, नाम नयनसुख - दृष्टिबाधित को अपना नाम सोच-विचार कर ही रखना चाहिए
 उत्तर  

प्रश्न 27   किस विकल्प में मुहावरे का भावार्थ सही नहीं है -
 (अ) अंगारे उगलना - बहुत कठोर बातें कहना
 (ब) अल्लाह को प्यारा होना - ईश्वर का प्रिय भक्त होना
 (स) भंडा फूटना - रहस्य प्रकट हो जाना
 (द) आंखे तरेरना - क्रोध से देखना
 उत्तर  

प्रश्न 28   किस विकल्प में मुहावरे का भावार्थ सही है -
 (अ) पेट पर लात मारना - बरी तरह पीटना
 (ब) पहाड़ टूटना - अतिवृष्टि होना
 (स) बगलें झांकना - इधर-उधर देख कर चलना
 (द) नाक का बाल होना - अत्यधिक घनिष्ठ या प्रिय व्यक्ति होना।
 उत्तर  

प्रश्न 29   ‘कलई खुलना’ मुहावरे का भावार्थ है -
 (अ) कपड़े की सिलाई खुल जाना
 (ब) बर्तन की कलई उतर जाना
 (स) रहस्य प्रकट हो जाना
 (द) कली का खिल कर फूल बन जाना
 उत्तर  

प्रश्न 30   ‘सीधी उंगली से घी नहीं निकलता’ लोकोक्ति का भावार्थ है -
 (अ) उंगली टेढ़ी करके घी निकालना चाहिए
 (ब) कभी उंगली से घी नहीं निकालना चाहिए
 (स) बहुत सीधा होने से काम नहीं चलता
 (द) घी हमेशा चम्मच से ही निकालना चाहिए
 उत्तर  


प्रश्न 31   ‘निन्यान्वें के फेर में पड़ना’ मुहावरे का सही अर्थ है -
 (अ) धन जोड़ने में लगे रहना
 (ब) मूर्खता के कार्य कर बैठना
 (स) किसी चक्कर में पड़ जाना
 (द) परिवार के झंझटों में फंसे रहना
 उत्तर  

प्रश्न 32   ‘चिराग तले अन्धेरा’ लोकोक्ति का सही अर्थ है -
 (अ) अपनी बुराई नहीं दीखना।
 (ब) काम न जानना और बहाने बनाना।
 (स) न कारण होगा न कार्य होगा।
 (द) परिश्रम का फल अन्धेरे से उजाला लाता है।
 उत्तर  

प्रश्न 33   ‘अन्धा होना’ मुहावरे का अभिप्राय है -
 (अ) आंखों से दिखाई न देना
 (ब) आंख से काना
 (स) विवेक भ्रष्ट होना
 (द) जहां धांधली का बोलबाला हो
 उत्तर  

प्रश्न 34   ‘एक पंथ दो काज’ मुहावरे का उचित अर्थ है -
 (अ) एक साथ दो-दो दोष।
 (ब) समय पर कार्य करना।
 (स) एक प्रयत्न से दो काम हो जाना।
 (द) एक राह पर दो लोग साथ होना।
 उत्तर  

प्रश्न 35   ‘घर में नहीं दाने अम्मा चली भुनाने’ लोकोक्ति का सही अर्थ होगा -
 (अ) सामथ्र्य से बाहर कार्य करना
 (ब) शेखी मारना
 (स) व्यर्थ के कामों में समय नष्ट करना
 (द) ना होने पर भी ढोंग करना
 उत्तर  

प्रश्न 36   निम्नलिखित में से लोकोक्ति का चयन कीजिए -
 (अ) आंखे दिखाना
 (ब) दांत खट्टे करना
 (स) अंगारे उगलना
 (द) कौआ चले हंस की चाल
 उत्तर  

प्रश्न 37   ‘ईद का चांद होना’ मुहावरे का सही अर्थ है -
 (अ) ईद का त्योहार होना
 (ब) ईद पर चांदी काटना
 (स) बहुत दिनों बाद दिखाई देना
 (द) ईद पर चांद को लाना
 उत्तर  

प्रश्न 38   निम्नलिखित में से लोकोक्ति चुनिए -
 (अ) कमर कसना
 (ब) दम भरना
 (स) टांग अड़ाना
 (द) एक पंथ दो काज
 उत्तर  

प्रश्न 39   लोकोक्ति व मुहावरे में सही अन्तर है -
 (अ) मुहावरा पूर्ण वाक्य होता है, लोकोक्ति वाक्यांश मात्र होती है।
 (ब) लोकोक्ति और मुहावरा, दोनों ही वाक्यांश मात्र होते हैं।
 (स) लोकोक्ति पूर्ण वाक्य होती है, जबकि मुहावरा वाक्यांश मात्र होता है।
 (द) लोकोक्ति और मुहावरा, दोनों ही पूर्ण वाक्य होते हैं।
 उत्तर  

प्रश्न 40   ‘स्थिति दयनीय होने पर भी घमंड न छोड़ना’ के लिए उपयुक्त लोकोक्ति है -
 (अ) रस्सी जल गयी पर ऐंठन न गयी
 (ब) चोर की दाढ़ी में तिनका
 (स) गरजै पर बरसे नहीं
 (द) ऊँट के मुँह में जीरा
 उत्तर  


प्रश्न 41   ‘अक्ल पर पत्थर पड़ना’ मुहावरे का अर्थ है -
 (अ) प्रतिभावान होना
 (ब) बुद्धिमान होना
 (स) बुद्धिभ्रष्ट होना
 (द) मूर्ख होना
 उत्तर  

प्रश्न 42   ‘मांग अधिक आपूर्ति कम’ आशय के लिए उपयुक्त लोकोक्ति है -
 (अ) एक अनार सौ बीमार
 (ब) ऊंट के मुँह में जीरा
 (स) एक पंथ दो काज
 (द) ऊँची दुकान फीके पकवान
 उत्तर  

प्रश्न 43   ‘जैसी बहे बयार पीठ तब तैसी दीजे’ लोकोक्ति का अर्थ है -
 (अ) राजनीति में दलबदल करते रहना चाहिए।
 (ब) ऐसा काम करना चाहिए, जिससे संकट में न फंसा जाए।
 (स) समय का रूख देखकर काम करना चाहिए।
 (द) पवन की तरह कभी शीतल और कभी उष्ण होना।
 उत्तर  

प्रश्न 44   ‘अरहर की टट्टी गुजराती ताला’ लोकोक्ति का उपयुक्त अर्थ है -
 (अ) कम मूल्यवाल वस्तु की सुरक्षा हेतु अधिक खर्च करना
 (ब) गरीब होने पर भी धनवान होने का दिखावा करना
 (स) बिना सोचे समझे काम करना
 (द) सामान्य चीज को भी अच्छा सजाना
 उत्तर  

प्रश्न 45   ‘बांछे खिलना’ से आशय है -
 (अ) फसल में फलियां आ जाना
 (ब) अत्यन्त प्रसन्न होना
 (स) काम पूरा हो जाना
 (द) खिलखिलाकर हँसना
 उत्तर  

प्रश्न 46   ‘काम बिगड़ जाने के बाद पश्चात्ताप करना व्यर्थ है’ हेतु उपयुक्त लोकोक्ति है -
 (अ) का वर्षा जब कृषि सुखाने
 (ब) एक पापी सारी नाव डुबोता है
 (स) नाहि विष बेल अमिय फल पूरही
 (द) अब पछताए होत क्या जब चिड़िया चुग गई खेत
 उत्तर  

प्रश्न 47   ‘नानी कुंआरी मर गयी नवासे के नौ नौ व्याह’ लोकोक्ति का अर्थ है -
 (अ) व्यर्थ शेखी बधारने वाला।
 (ब) एक आदमी अपराध करे और दूसरा दंड भुगते।
 (स) अधिक जानने वाले को उपदेश देने वाला।
 (द) दूसरों की सम्पत्ति से लाभ उठाने वाला।
 उत्तर  

प्रश्न 48   ‘बालू से तेल निकालना’ मुहावरे का अर्थ है -
 (अ) शीघ्र नष्ट होने वाली वस्तु
 (ब) असंभव काम करना
 (स) पूर्णतः स्वस्थ होना
 (द) बहुत साधन संपन्न होना
 उत्तर  

प्रश्न 49   ‘कुछ न कुछ बुराई सब जगह होती है’ अभिप्राय की वाचक लोकोक्ति है -
 (अ) कड़ाई से गिरा चूल्हे में पड़ा
 (ब) करम से बलिया, पकाई खीर हो गया दलिया
 (स) काबुल में क्या गधे नहीं होते
 (द) दान की बछिया के दांत नहीं देखे जाते
 उत्तर  

प्रश्न 50   ‘गले के नीचे उतरना’ मुहावरे का अर्थ है -
 (अ) पचाना
 (ब) खो जाना
 (स) हजम करना
 (द) समझ में आना
 उत्तर  


प्रश्न 51   ‘खेह खाना’ मुहावरे का अर्थ है -
 (अ) खाने का लालची होना
 (ब) आसान समझना
 (स) बुरी दशा में रहना
 (द) अनुभवी, चालाक होना
 उत्तर  

प्रश्न 52   लोकोक्ति का युक्तियुक्त अर्थ है-
 (अ) रूपया तो शेख नहीं तो जुलाहा - रूपये से रूपया पैदा होता है।
 (ब) घर के ही मर्द हैं - डरपोक आदमी
 (स) छूटा बाज न आवे हाथ - लाभकर वस्तु कुरूप भी हो तो अच्छी है।
 (द) कन-कन जोड़े मन जुड़े-बिना परिश्रम मनोकामना सिद्ध हो जाती है।
 उत्तर  

प्रश्न 53   मुहावरे का युक्तियुक्त अर्थ नहीं है-
 (अ) छठी का राजा - कठिन परिश्रम करने वाला
 (ब) पेंदे के बल बैठना - पराभव मानना
 (स) छाती उमड़ आना - प्रेम या करूणा से गद्गद् होना
 (द) चादर से बाहर पैर फैलाना - मर्यादा का उल्लंघन करना
 उत्तर  

प्रश्न 54   बंजारे का डेरा
 (अ) बिना छत का घर
 (ब) बिना घर-बार का
 (स) जगह जगह घूमने वाला
 (द) घर गृहस्ती का सामान ना होना
 उत्तर  

प्रश्न 55   रंग में भंग डालना
 (अ) बिजली गुल कर देना
 (ब) परेशान करना
 (स) विध्न डालना
 (द) उत्पात मचाना
 उत्तर  

प्रश्न 56   सर्वनाश कर देना (सही मुहावरे पर निशान लगाओ)
 (अ) ईंट से ईंट बजा देना
 (ब) इतिश्री कर देना
 (स) नामोनिशान मिटा देना
 (द) उपर्युक्त में से कोई नहीं
 उत्तर  

प्रश्न 57   हाथ का मैल
 (अ) मेहनत की कमाई
 (ब) अत्यंत तुच्छ वस्तु
 (स) सहज प्राप्त वस्तु
 (द) परमात्मा की देन
 उत्तर  

प्रश्न 58   खरा खेल फर्रुखाबादी
 (अ) फर्रुखाबाद में खेला जाने वाला एक खेल
 (ब) धोखाधड़ी
 (स) सच्चा काम
 (द) कथनी और करनी में अंतर
 उत्तर  

प्रश्न 59   अंगारों पर पैर रखना
 (अ) जानबूझकर खतरे का काम करना
 (ब) होली के अवसर पर किए जाने वाले कृत्य
 (स) असंभव काम करना
 (द) नखरे करना
 उत्तर  

प्रश्न 60   भात सड़ना
 (अ) बिरादरी से निकालना
 (ब) लापरवाह होना
 (स) आवश्यकता से अधिक भोजन तैयार होना
 (द) बासी भोजन
 उत्तर  



प्रश्न 61   काठ का उल्लू
 (अ) गुणवान
 (ब) मूर्ख
 (स) निर्जीव
 (द) अत्यधिक सरल
 उत्तर  

प्रश्न 62   घर-घर में माटी के चूल्हे होना
 (अ) प्रत्येक परिवार में बटवारा होता है
 (ब) सब जगह क्लेश है
 (स) सब समान होना
 (द) मिट्टी का चूल्हा आसानी से बना लिया जाता है ।
 उत्तर  

प्रश्न 63   केर-बेर का संग होना
 (अ) समन्वय होना
 (ब) गलत काम होना
 (स) असंभव काम होना
 (द) विरुद्ध स्वभाव वालों का एक साथ मिलना
 उत्तर  

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें